रविवार, 25 नवंबर 2012

''....तोरी कृष्णा प्रीत मोहे भांवरी बनाए रे....''





तोरी कृष्णा प्रीत मोहे भांवरी बनाए रे
चैन ना आए मोहे चैन ना आए रे

सब जग रूठा , सब बंधन झूठा
तू ही मुझे घड़ी घड़ी अपना बनाए रे

तोरी कृष्णा प्रीत मोहे भांवरी बनाए रे
चैन ना आए मोहे चैन ना आए रे

रिश्ते काहे के , नाते काहे के
तुझसे से ही नाता मेरा जुड़ता जाए रे

तोरी कृष्णा प्रीत मोहे भांवरी बनाए रे
चैन ना आए मोहे चैन ना आए रे

राधा सी प्रीत दे दे,मीरा सी दीवानगी
तेरा ही रंग मोह पे चड़ता जाए रे

तोरी कृष्णा प्रीत मोहे भांवरी बनाए रे
चैन ना आए मोहे चैन ना आए रे
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...